Duniya ki sabse adhik jansankhyan wala desh

दोस्तों आज के इस पोस्ट में हम बात करेंगे की दुनिया में सबसे अधिक जनसँख्या वाला देश कौन सा है ? हमे इसे जरूर जानना चाहिए , बहुत सारे प्रतियोगिता परीक्षाओं में इससे जुड़े प्रश्न पूछे जाते है |
दुनिया के साथ-साथ हमारे देश की भी जनसँख्या बहुत तेजी से बढ़ रही है | अगर हम पिछले 50 वर्ष की बात करें तो पूरी दुनिया की जनसँख्या में 174 % की बढ़ोतरी हुई है | 1950 से 2010 तक विश्व जनसँख्या 2.5 बिलियन से 6.5 बिलियन की बढ़ोतरी हुई है |

सबसे अधिक जनसँख्या वाला देश कौन है ?

अगर हम संसार के सभी देशों की बात करें तो सबसे अधिक जनसंख्याँ वाला देश चीन है | 2020 में इसकी कुल आबादी 143 करोड़ आंकी गयी है | जो की पूरे दुनिया की जनसंख्याँ का 18.47%  है | चीन की  जनसंख्याँ घनत्व 153 प्रति की.मी वर्ग है |

विश्व की पाँच सबसे अधिक जनसंख्याँ वाला देश 

दोस्तों  पूरे विश्व की सबसे 5 जनसँख्या वाला देश की लिस्ट निचे दी गयी है |
  1. चीन
  2. भारत
  3. अमेरिका
  4. इंडोनेशिया
  5. पाकिस्तान
दोस्तों अब तक तो आप  चीन की जनसँख्या के बारे में तो जान ही चुके होंगे , आइये बाकी चार देशों के बारे में जानते है |
चीन के बाद सबसे अधिक जनसँख्या वाला देश भारत है | भारत की कुल आबादी 138 करोड़ है , जो की पूरे विश्व जनसँख्या की 17.7% है| भारत की जनसँख्या घनत्व 382 जन प्रति वर्ग की.मी है| भारत की आबादी इतनी तेजी से बढ़ रही है की एक दिन यह चीन को भी आबादी के मामले में पछार देगी |
sabse adhik jansankhyan wala desh
sabse adhik jansankhyan wala desh
भारत के बाद तीसरे पायेदान पे आने वाला देश अमेरिका है | हालांकि अगर हम चीन और भारत की तुलना में बात करें तो यह बहुत ही कम है | अमेरका की कुल आबादी 32.8 करोड़ है जो की भारत की आबादी की आधे से भी कम है |
चौथे और पांचवे देश की बात करें तो क्रमश: इंडोनेशिया और पाकिस्तान है | इंडोनेशिया की कुल आबादी 27 करोड़ जबकि वहीँ  पाकिस्तान की आबादी 22 करोड़ है |

भारत में जनगणना कब होता है ?

किसी भी देश की आबादी को गिनने के लिए उस देश की जनगणना की जाती है | जो की प्रति 10 वर्ष में किया जाता है | अब तक भारत में कुल 15 बार जनगणना किया गया है | सबसे पहले 1872 ई. को अंग्रेजों के ज़माने में पहला जनसँख्या गिनती हुआ , जिसको की 9 वर्ष लगे और यह 1881 ई. को समाप्त हुआ |

जनसँख्या नियंतंत्र कैसे करें ?

हमारे देश की जनसँख्या इतनी तेजी से बढ़ रही है की इसकी कोई बात ही नही की जा सकती | आपको एक जानकारी के लिए बता दे की भारत में 1 मिनट में कुल 50 बच्चे पैदा होते है और 77,756 प्रतिदिन | यहीं अगर हम मृत्यु दर की बात करें तो 28,230 प्रतिदिन है |
ऐसा अनुमान लगाया जाता है की अगर 1 वर्ष में एक फिसीदी भी आबादी बढती है , तो यह प्रतिवर्ष 2 करोड़ आबादी बढ़ने के बारबार है जो की एक बहुत बड़ी संख्यां है |
हमारे देश में आबादी तो अँधाधुन बढ़ रही है लेकिन बेरोज़गारी उतनी ही तेजी से घट रही है | इसीलिए हम सबको जनसंख्याँ नियंतंत्र में सहयोग करना चाहिए |

जनसंख्याँ नियंतंत्र करने के कुछ उपाय —

विकास – किसी भी देश की आबादी को रोकने या कम करने के लिए उस देश का विकास होना बहुत जरूरी है| अगर किसी भी देश में विकास बहुत कम है तो निश्चित रूप से उस देश में गरीबी होगी , असाक्षरता ,भेदभाव  बढ़ेगी और मेडिकल सुविधा की कमी होगी और यही सब के वजह से जनसंख्याँ वृद्धि में बढ़ोतरी होती है |

शिक्षा – शिक्षा किसी भी देश के लोगो का और अर्थव्यवस्था का अहम् हिस्सा माना जाता है | शिक्षा विशेष तौर पर नारी शिक्षा population कण्ट्रोल पर अच्छे से काम करती है | एक साक्षर पुरुष और महिला एक छोटा परिवार के फायेदे अच्छी तरह से समझ सकता है |

महिला सशक्तिकरण – महिला सशक्तिकरण को बढ़ाना सबसे जरूरी है | लिंग भेद-भाव एक मुख्या कारण है जो की जनसंख्याँ को बढ़ावा देते है | जैसे की बेटी की तुलना में लोग बेटे को ज्यादा बढ़ावा देते है, लेकिन यह पूर्ण रूप से गलत है | और यही कारण है की हमारे देश की जनसंख्याँ इतनी तेजी से बढ़ रही है |हमें बेटा हो या बेटी दोनों को एक समान समझना चाहिए और महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना चाहिए |

गरीबी – गरीबी भी कहीं-न-कहीं आबादी वृद्धि से जुडी है | इस लोगो का सोच है की ज्यादा बच्चा मतलब ज्यादा कमाई | एक परिवार में ज्यादा लोग रहेंगे तो कमाई भी ज्यादा होगी |

जागरूकता – सरकार को और गैर-सरकारी संस्थाओं , यहाँ तक की हमें भी आबादी नियंतंत्र से सम्बंधित जानकारी लोगो तक पहुंचाए और इसके प्रति जागरूकता फैलाए | जिससे की लोगो तक यह जानकारी पहुंचे और लोग बढ़-चड़कर ऐसे अभियान में सामिल हो |

गर्भ-निरोधक दवाई – बहुत सारे ऐसे जगह है जहाँ मेडिकल सुविधा उपलब्ध नही है, और जिसके कारण लोग इससे वंचित है | यह दवाई न सिर्फ जनसंख्याँ को रोकती है बल्कि बहुत सारे सेक्सुअल बिमारी से भी बचाती है |

विवाह उम्र – लड़कियों कि कम उम्र में शादी कराना भी एक बहुत बड़ा कारण है | कम उम्र में शादी जन्म देने की लम्बी अवधि की ओर ले जाता है | छोटी उम्र में शादी होने के कारण लड़कियों में शिक्षा और समझ की कमी होती है | इसलिए विवाह सही उम्र में करनी चाहिए |

आज आपने सिखा 

दोस्तों आज के इस लेख में मैंने दुनिया की सबसे अधिक जनसंख्याँ वाला देश के बारे में जानकारी दी है | और साथ ही कुछ सामान्य ज्ञान जैसे भारत में जनगणना कब होती है और जनसंख्याँ नियंतंत्र कैसे करें | दोस्तों अगर आपको यह पोस्ट अच्छा लगे तो कमेंट में फीडबैक जरूर दे ताकि हमें आपसे और प्रेरक मिलते रहे |

धन्यवाद

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap