ATM का Full-form क्या होता है ?

क्या आपको पता है कि ATM का Full-form क्या होता है और इसका अविष्कार किसने किया ? अगर जानते है तो
बहुत अच्छी बात है अगर नही आज आपके लिए यह पोस्ट बहुत ही उपयोगी होने वाला है |
दोस्तों आज के ज़माने में ATM मशीन तो करीब सभी ने देखा होगा | और इससे पैसे तो हर कोई निकालता है ,आप भी जरूर निकालते होंगे , मैं भी निकालता हूँ | पर क्या कभी आपके दिमाग यह प्रश्न उठा कि आखिर कौन था वह इंसान जिसने इतनी बड़ी कारनामा कर डाला |

ATM का Full-form क्या होता है ?

ATM का फूल-फॉर्म Automated-Teller-Machine होता है | इसे हिंदी में स्वचलित टेलर मशीन कहा जाता है |

ATM क्या है ?

एटीएम  पूरी तरह से एक इलेक्ट्रोनिक दूरसंचार यन्त्र है जिसके माध्यम से पैसों की जमा अथवा  निकासी की जाती है | यह मशीन पूरी तरह से स्वचलित है | इसका उपयोग करने के लिए आपको बैंक कर्मचारियों की कोई जरूरत नही होती है |

ATM काम कैसे करता है ?

क्या आपने कभी सोची है की आखिर यह मशीन काम कैसे करती है , कैसे एक प्लास्टिक के card से आप जितना चाहे उतने पैसे निकाल लेते हो सिर्फ कुछ मिनटों में |
दोस्तों एटीएम में बहुत सारे सेंसर लगे होते है और अलग-अलग पैसों (जैसे: सौ , दो सौ , पाँच सौ , दो हज़ार ) के खांचे बने होते है और मशीन को मालुम होता है की किसमें कितने पैसे है |  जैसे ही आप amount डालते है तुरंत ही मशीन पढ़ लेती है और बैंक के सर्वर में भेजती है  और आपको पैसे तुरंत दे देती है | एक नोट को मशीन बहुत बार चेक करती है अगर नोट अच्छी है तभी आपको नोट मिलती है नही तो उसमे एक Reject Bin भी रहता है | जो नोट खराब रहता है वह इसी में डाल दिया जाता है |
ATM ka Full-form kya hai
ATM ka Full-form kya hai

ATM के कितने Parts होते है ?

दोस्तों एटीएम के मुख्यत: दो parts होते है जिनका प्रयोग प्रायः लोग करते है |
  1. आउटपुट डिवाइस
  2. इनपुट  डिवाइस
इनपुट डिवाइस :
 
Card Reader: यह एटीएम कार्ड के डाटा को पढ़कर आपके खाते से जोड़ता है | कार्ड के पीछे एक चम्बुकिय स्ट्रिप लगी होती है इसी के मदद से यह आपके खाते से connect हो कर पैसे की जमा अथवा निकासी कराने में मदद करती है |
Keypad: यह एटीएम के स्क्रीन के निचे लगा होता है इसकी मदद से आप अपना एटीएम पिन डालते है | इसमें Cancel, Clear, Enter जैसी बटन होते |
आउटपुट डिवाइस :
 
स्क्रीन: दोस्तों जिस चीज पर हमें खाता सम्बन्धी जानकारी दिखाई जाती है उसे स्क्रीन कहते है | यह आउटपुट डिवाइस के अंतर्गत आता है |
स्पीकर: बहुत सारे एटीएम मशीन में स्पीकर लगे होते है | जैसी ही आप कोई भी बटन दबायेंगे आपको उससे सम्बन्धी आवाज सुनाई देगी जो आपको बहुत मदद देती है खासकर थोड़े कम पढ़े लिखे वाले लोगो के लिए |
कैश निकासी केंद्र: यह वह जगह है जहाँ से आपका नगद राशि निकलता है | यह भी एक महत्वपूर्ण आउटपुट डिवाइस में से एक है |
रसीद प्रिंटर: यह आपके transaction से सम्बंधित रसीद प्रदान करती है , जिसमे की हर एक चीज जैसे राशि , बची हुई राशि , निकाशी की तिथि अथवा स्थान आदि प्रिंट होती है |

ATM मशीन का अविष्कार किसने किया ?

दोस्तों ATM मशीन का अविष्कार करने वाले भारतीय थे | जिसका नाम जॉन शेफर्ड बर्रोंन था | इनका जन्म 23 जून 1925 को  भारत के मेघालय राज्य के सिलोंग शहर में हुआ था |
जब वह नहाने जा रहे थे तब अचानक से उनके दिमाग एक बात उठी | वह सोचने लगे कि यदि चॉकलेट निकलने वाली मशीन के जैसा अगर पैसे निकलने वाली मशीन हो तो आदमियों को बहुत ही सहूलियत होगी | बस क्या था इसके बाद वह लग गए इस काल्पनिक चीज को हकीकत में बदलने के लिए और 1925 को वह पूरी दुनिया को करके दिखा दिया |

पहला ATM मशीन कहाँ लगाया गया ?

दोस्तों दुनिया में सबसे पहला ATM मशीन 27 जून  1967 को लन्दन में Barclays bank ने लगवाया | उसके बाद धीरे-धीरे दुनिया के अलग-अलग कोने में लगाया गया |

भारत में सबसे पहला ATM मशीन

भारत में सबसे पहला ATM मशीन  हांगकांग एंड शंघाई बैंकिंग कारपोरेशन लिमिटेड (HSBC bank ) ने  मुंबई में लगाया |
 

ATM से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

जब एटीएम कि शुरुवात हुई थी तब उसके पिन नंबर छ: अंकों के होते थे | बाद में वह अपनी पत्नी के कहने पर पिन नंबर चार अंकों वाली कर दिए | छ: अंकों की पिन लोगो को याद रखने में दिक्कत होती थी |
पूरी दुनिया में लगभग 30 लाख एटीएम मशीन लगे है, जिसमे से भारत में सिर्फ 2.5 लाख मशीने है | एक आंकरे के हिसाब से पूरी दुनिया में करीब 3000 लोगों में एक एटीएम मशीन है |
दोस्तों क्या आपको पता है कि बिना बैंक अकाउंट के भी आप एटीएम का इस्तमाल करके पैसे निकल सकते है ,लेकिन यह सुविधा हमारे भारत देश में नही है | यूरोप में एक देश जिसका नाम रोमानिया है, यहाँ के 84% लोग बिना बैंक खाता के एटीएम का प्रयोग करते है |
दुनिया का सबसे ऊँचा एटीएम नाथुला में है जो की भारत और चीन के बोर्डेर पर है | यह समुद्र तल से करीब 4360 मी. ऊंचाई पर है | यह मशीन सिर्फ आर्मी लोगों के सुविधा के लिए लगाई गयी है |
क्या आपको पता है कि अंटार्टिका में केवल एक ही एटीएम मशीन है |
ब्राज़ील देश में पैसे का जमा और निकासी को सुरक्षित बनाये रखने के लिए  बायोमेट्रिक एटीएम का इस्तमाल किया जाता है | मतलब यह की इन एटीएम मशीन में पैसे निकालने के लिए  पिन नंबर के बदले फिंगर प्रिंट का इस्तमाल किया जाता है |
आज कल हर एक एटीएम में GPS से connected एक चिप लगी होती है , ताकि पुलिस एटीएम चुराने वाले को ट्रैक कर सके |
ऐसा माना जाता है कि भारत में एटीएम से कैस (cash) किसी और दिन के तुलना में शुक्रवार को ज्यादा निकालते है |

Floating ATM क्या है ?

फ्लोटिंग एटीएम का मतलब तैरने वाला एटीएम | जी हाँ दोस्तों , हमलोग जो भी एटीएम देखते है वो सभी किसी bank के निकट या कहीं मार्केट में होते है | लेकिन यह मशीन पानी में लगाया गया है |
भारत का सबसे पहला फ्लोटिंग एटीएम मशीन स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया ने केरला के झंकार स्थित जगह में  9 फरबरी 2004 को लगवाया |

Gold ATM मशीन क्या है ?

जिस तरह एटीएम मशीन से पैसे निकलते है उसी तरह GOLD एटीएम मशीन से सोने निकलते है | दुनिया में सबसे पहली गोल्ड मशीन अबू-धाबी में लगाई गयी है | इससे करीब 300 तरह के गोल्ड के सामान निकाले जा सकते  |

आज आपने सिखा 

दोस्तों आज के इस लेख में मैंने आप लोगो को एटीएम मशीन के बारे में जानकारी देने की कोशिश की जैसे की एटीएम का फूल-फॉर्म, इसका अविष्कार किसने किया , यह काम कैसे करता है , Gold ATM और Floating ATM क्या होता है और एटीएम से जुड़े कुछ रोचक तथ्य | अगर हमारी यह पोस्ट आपको कैसी लगी कमेंट में जरूर बताइए ताकि हमें आपसे प्रेरणा मिले और हम आगे इसी तरह अच्छी-अच्छी पोस्ट आपके लिए लिखे | दोस्तों हमारे इस पोस्ट अपने मित्रों के share जरूर करें |
धन्यवाद 

Leave a Comment

Share via
Copy link
Powered by Social Snap